एक बड़ा स्टॉक जिसमें 1 लाख रुपये लगाने वालों को साल में 42 लाख रुपये मिले

0
122

पिछले एक साल में भारतीय शेयर बाजारों ने जिस तरह से रिबाउंड किया है, उस तरह से पेनी शेयरों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है। ऐसा ही एक पैसा स्टॉक है गीता रिन्यूएबल एनर्जी (जीआरई) जिसने एक साल में निवेशकों को अमीर बना दिया है। एक साल में यह शेयर 42 गुना चढ़ चुका है।

गीता रिन्यूएबल एनर्जी कंपनी के शेयर की कीमत पिछले एक महीने में 86.39 फीसदी उछल गई है। कंपनी मुख्य रूप से पवन, सौर और पनबिजली के कारोबार में शामिल है। कंपनी की स्थापना 2010 में गुमीदीपोंडी, तमिलनाडु में हुई थी

जीआरई के शेयर की कीमत ने एक साल में 4197% का जबरदस्त रिटर्न दिया है। स्टॉक एक साल पहले 29 अक्टूबर, 2020 को 6.07 रुपये पर बंद हुआ था। आज एक साल में कंपनी का शेयर भाव 29 अक्टूबर 2021 को 254.80 रुपये पर बंद हुआ। 29 अक्टूबर को स्टॉक में 5 फीसदी का अपर सर्किट था।

इस तरह से देखें तो एक साल पहले जीआरई शेयरों में 1 लाख रुपये का निवेश करने वालों को आज 42 लाख रुपये मिलते हैं।बीएसई पर कंपनी का मार्केट कैप 104.78 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। जीआरई की तुलना में रवींद्र एनर्जी ने एक साल में 97 फीसदी और ऊर्जा ग्लोबल ने 50.8 फीसदी का रिटर्न दिया है। जीआरई में प्रमोटर की हिस्सेदारी 73.05 फीसदी और पब्लिक शेयर होल्डिंग 26.95 फीसदी है।

हालांकि, निवेशकों को ध्यान देना चाहिए कि पिछले कुछ दिनों से शेयर में गिरावट का रुख बना हुआ है, लेकिन शुक्रवार को 5 फीसदी से ऊपर बना रहा। बीएसई ने इस स्टॉक को ग्रेडेड सर्विलांस मेजर्स (जीएसएम) के दूसरे चरण में रखा है। जिसके तहत शेयरों की आवाजाही पर ध्यान दिया जाता है।

शेयर बाजार के विश्लेषकों का कहना है कि जीआरई कंपनी की शेयर रैली के वित्तीय परिणामों से मेल नहीं खाता। 2 तिमाहियों, मार्च और जून 2021 को छोड़कर, कंपनी को 2017 से केवल घाटा हुआ है। कंपनी ने मार्च तिमाही में 15 लाख रुपये और जून तिमाही में 36 लाख रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। विशेषज्ञ इन पेनी शेयरों में निवेशकों को सतर्क रहने की सलाह दे रहे हैं। जिन शेयरों की कीमत 10 रुपये से कम होती है उन्हें पेनी स्टॉक कहा जाता है। ऐसे शेयरों में प्रमोटर की हिस्सेदारी ज्यादातर ज्यादा होती है।